क्रिकेट इतिहास में बॉल टेंपरिंग के कारण इन 10 वजहों से बदनाम हो चुका है ये Gentleman’s Game

0

क्रिकेट में इन दिनों बॉल टेंपरिंग की हवा चल रही है. केपटाउन में ऑस्ट्रेलिया-साउथ अफ़्रीका के बीच खेले गए तीसरे टेस्ट के दौरान हुआ बॉल टेंपरिंग विवाद थमाने का नाम नहीं ले रहा है. इस मामले में कप्तान स्टीव स्मिथ, कैमरन बैनक्रॉफ़्ट और उपकप्तान डेविड वॉर्नर पर गाज गिरी है. बॉल टेंपरिंग विवाद के बाद आईसीसी ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ पर मैच फ़ीस का 100% जुर्माने के साथ-साथ एक टेस्ट मैच का बैन लगाया है. जबकि कैमरन बेनक्रॉफ्ट को 75% मैच फ़ीस के साथ तीन डी-मेरिट पॉइंट्स मिले हैं.

Loading...

बॉल टेंपरिंग है क्या?

सबसे पहले बताना चाहेंगे कि जब मैदान पर कोई खिलाड़ी या टीम क्रिकेट के नियमों के विपरीत गेंद के साथ छेड़खानी कर उसकी कंडीशंस को बदलने की कोशिश करता है, तो उसे बॉल टेंपरिंग कहा जाता है. 

बात जब बॉल टेंपरिंग की हो रही है तो इसके इतिहास को कैसे भूल सकते हैं? क्रिकेट इतिहास में बॉल टेंपरिंग कोई नयी बात नहीं है. साल 1994, ये वो दौर था जब क्रिकेट आधुनिककरण की ओर बढ़ रहा था. ग्राउंड में मैच और खिलाड़ियों पर नज़र रखने के लिए मल्टी कैमरे लगने लगे. इसी बीच लोगों को बॉल टेंपरिंग शब्द सुनने को मिला. इससे पहले भी कई बार क्रिकेट मैदान पर हम इस टर्म को सुन चुके हैं. लेकिन पिछले कुछ सालों से बॉल टेंपरिंग के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं.

आईये देखते हैं क्रिकेट इतिहास में कब-कब बॉल टेंपरिंग हुयी है?

1. माइकल अथर्टन बॉल टेंपरिंग केस

Source: hindi

साल 1994, लॉर्ड्स के मैदान पर साउथ अफ़्रीका और इंग्लैंड के बीच खेले गए टेस्ट मैच के दौरान इंग्लैंड के कप्तान माइकल अथर्टन बॉल टेंपरिंग करते पकड़े गए थे. अथर्टन ने बॉल को रब करने के लिए अपनी पॉकेट में रेत रखी हुयी थी. जिसे कैमरे ने पकड़ लिया. अथर्टन ने दलील दी कि उन्होंने रेत गीले हाथों पर लगाने के लिए रखी थी. लेकिन मैच रेफ़री ने उन पर 2000 डॉलर का फ़ाइन लगा दिया था.

2. सचिन और सेहवाग बॉल टेंपरिंग के घेरे में आये थे

Source: 

साल 2001, भारत का साउथ अफ़्रीका दौरा. मैच रेफ़री माइक डेनिस ने बॉल टेंपरिंग के मामले में सचिन तेंदुलकर को एक मैच के लिए बैन कर दिया था. सचिन गेंद की एक साइड को रब करते हुए टीवी कैमरों में क़ैद हो गए थे. लेकिन इस मामले को रंगभेद का रूप देने वाले रेफ़री माइक डेनिस को तीसरे टेस्ट से बाहर कर दिया गया. जांच के बाद आईसीसी ने सचिन और सेहवाग पर लगे आरोपों को ख़ारिज़ कर दिया था.

3. टीम इंडिया की दीवार भी आये बॉल टेंपरिंग के लपेटे में

साल 2004, ऑस्ट्रेलिया के ब्रिस्बेन में ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ़ त्रिकोणीय सीरीज़ के एक मैच के दौरान राहुल द्रविड़ पर भी बॉल टेंपरिंग के आरोप लगे थे. द्रविड़ पर आरोप था कि उन्होंने बॉल पर जेल लगाया था. इस मामले में द्रविड़ को दोषी पाते हुए 50 फ़ीसदी मैच फ़ीस काट दी गयी.

4. ट्रेस्कोथिक ने जब मिंट के इस्तेमाल से बॉल को चमकाने का काम किया

Source: belfasttelegraph

साल 2005, इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज़ मार्कस ट्रेस्कोथिक ने अपनी ऑटोबायोग्राफ़ी ‘Coming Back to Me’ में लिखा कि एक सीरीज़ के दौरान उन्होंने बॉल की चमक और क्षमता बनाये रखने के लिए मिंट का इस्तेमाल किया था. ट्रेस्कोथिक ने इस बात का खुलासा 3 साल के बाद किया.

5. जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड बॉल को Spikes पर घिसते पाए गए

Source: telegraph

साल 2010, इंग्लैंड के तेज़ गेंदबाज़ जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड पर साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ केपटाउन में एक टेस्ट मैच के दौरान बॉल को अपने Spikes पर घिसने के आरोप लगे थे. लेकिन जांच के बाद इस मामले में दोनों के ख़िलाफ़ कुछ भी ग़लत नहीं पाया गया.

6. बॉल को अपने दांतों से काटते, कैमरे में क़ैद हुए थे अफ़रीदी

Source: aaj

साल 2010, ऑस्ट्रेलिया में एक टी-20 मैच के दौरान पाकिस्तान के कप्तान शाहिद अफ़रीदी पर बॉल टेंपरिंग के मामले में एक मैच का बैन लगा था. मैच के दौरान अफ़रीदी बॉल को अपने दांतों से काटते हुए कैमरे में क़ैद हो गए थे.

7. फ़ाफ़ डुप्लेसिस गेंद को अपने ट्राउज़र की ज़िप पर घिसते हुए पाए गए

साल 2013, दुबई में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ खेले गए एक टेस्ट मैच के दौरान साउथ अफ़्रीका के फ़ाफ़ डुप्लेसिस गेंद को अपने ट्राउज़र की ज़िप पर घिसते हुए पाए गए थे. इस बात को लेकर फ़ील्ड अम्पायरों ने बॉल को बदलकर पाकिस्तान को 5 एक्सट्रा रन दिए. जबकि दोषी पाए जाने पर डुप्लेसिस की 50 फ़ीसदी मैच फ़ीस काट दी गयी.

8. फ़िलेंडर ने बॉल को अंगूठे से खुरच डाली

Source: scoop

साल 2014, श्रीलंका दौरे पर गयी दक्षिण अफ़्रीकी टीम के तेज़ गेंदबाज़ वर्नोन फ़िलेंडर अंगूठे से बॉल को खुरचने के दोषी पाए गए और मैच रेफ़री ने उनकी 75 फ़ीसदी मैच फ़ीस काट दी. बावज़ूद इसके साउथ अफ़्रीका ये टेस्ट 153 रन से जीता था.

9. डुप्लेसिस ने गेंद पर मिंट या लॉलीपॉप का Saliva लगाया था

Source: dailytimes

साल 2016, ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ़्रीका के बीच होबार्ट में खेले गए टेस्ट मैच के दौरान साउथ अफ़्रीका के कप्तान फ़ाफ़ डुप्लेसिस गेंद पर मिंट या लॉलीपॉप का Saliva लगाते हुए कैमरों में क़ैद हुए थे. जांच में डुप्लेसिस को दोषी पाया गया. इसके लिए उनकी मैच फीस भी कटी गयी थी.

10. स्टीव स्मिथ और कैमरन बेनक्रॉफ्ट की साजिश

साल 2018, केपटाउन में ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ़्रीका के बीच खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में हुयी बॉल टेंपरिंग विवाद के बाद आईसीसी ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ पर मैच फ़ीस का 100% जुर्माने के साथ-साथ एक टेस्ट मैच का बैन लगाया. जबकि कैमरन बेनक्रॉफ्ट को 75% मैच फ़ीस के साथ तीन डीमेरिट पॉइंट्स मिले हैं.

एक ख़ास बात

आज तक क्रिकेट में जितनी बार भी बॉल टेंपरिंग हुई है अधिकतर बार साउथ अफ़्रीका टीम की मौजूदगी रही है और उस मैच में उनको जीत भी मिली है. किस्मत हो तो ऐसी.